विशेष सूचना एवं निवेदन:

मीडिया से जुड़े बन्धुओं सादर नमस्कार ! यदि आपको मेरी कोई भी लिखित सामग्री, लेख अथवा जानकारी पसन्द आती है और आप उसे अपने समाचार पत्र, पत्रिका, टी.वी., वेबसाईटस, रिसर्च पेपर अथवा अन्य कहीं भी इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सम्पर्क करें :rajeshtitoli@gmail.com अथवा मोबाईल नं. 09416629889. अथवा (RAJESH KASHYAP, Freelance Journalist, H.No. 1229, Near Shiva Temple, V.& P.O. Titoli, Distt. Rohtak (Haryana)-124005) पर जरूर प्रेषित करें। धन्यवाद।

विशेष लेख सीधे मंगवाएं

विशेष लेखों के लिए आप सीधे ईमेल rajeshtitoli@gmail.com अथवा मोबाईल 09416629889 नंबर पर सम्पर्क कर सकते हैं। ................................................... Note : ब्लॉग पर विज्ञापन देने के लिए सम्पर्क करें। प्रारंभिक विज्ञापन दर प्रतिमाह मात्र 1000.00 रूपये (साईज 6"X2") रखी गई है।

सोमवार, 18 मई 2015

‘मिशन-फतेहपुर (झाड़सा)’

‘मिशन-फतेहपुर (झाड़सा)’

आदरणीय मित्रो! गत 15 मई, 2015 को फतेहपुर (झाड़सा) गुड़गाँव/हरियाणा के 250 गरीब परिवारों पर जिस तरह 2500 की पुलिस फौज ने बड़ी बर्बरता की, अबोध-मासूम बच्चों से लेकर प्रसूताओं तक और बुजुर्गों से लेकर असहाय लोगों पर दर्जनों आँसू गैस के गोले दागे, सैंकड़ों गोलियों के फायर किये और बड़ी निर्ममता के साथ भूखे भेड़ियों की तरह लाठियां लेकर टूटे, उसने पूरे देश और और समाज को हिलाकर रख दिया है। इस घटना के लिए 36 बिरादरी ने घोर निन्दा की है और स्थानीय प्रशासन के साथ-साथ हुडा विभाग एवं प्रदेश व केन्द्र की भाजपा सरकार को सीधे-सीधे दोषी ठहराया है। इसके साथ ही बेहद कड़े शब्दों में आक्रोश जताया है। कई सामाजिक संगठनों और संघर्षशील समाजसेवियों ने ‘मिशन-फतेहपुर (झाड़सा)’ के तहत कई अनुकरणीय रचनात्मक कदम उठाने और पीड़ितों को न्याय दिलाने का संकल्प लिया है। 
श्री संजीव कश्यप जी ने तो पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने के लिए कमर कस ली है। उन्होंने इस हृदयविदारक एवं अति निंदनीय घटना के लिए हुडा विभाग और हरियाणा सरकार को दोषी मानते हुए पीड़ितों के पक्ष में खड़े होने का संकल्प उठाया है।
श्री सुरेन्द्र सिंह जी ने भी पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए एक कदम आगे बढ़ते हुए वकील की फीस के लिए 10,000 रूपये की सहयोग राशि देने का ऐलान कर दिया है।
श्री विजय कुमार कश्यप जी सबसे पहले उजाड़े गए पीड़ित परिवारों को पुनः बसाने का अभियान चलाने की अपील की है।
श्री मणिक चन्द्र कश्यप जी ने आह्वान किया है कि दोषियों को माफ नहीं किया जाना चाहिए। हम हर पल समाज के साथ हैं।
श्री जसबीर मलिक जी ने पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए पूरा समर्थन देने की घोषणा की है। उल्लेखनीय है कि श्री मलिक साहब जाट समाज के अग्रणीय बुद्धिजीवी लोगों में शामिल हैं। उन्होंने जात-बिरादरी से ऊपर उठकर पीड़ित कश्यप परिवारों के लिए समर्थन करने का अनुकरणीय जज्बा दिखाया है।
पुरूषोत्तम कश्यप जी सहित सैकड़ों समाजसेवियों ने गाँव फतेहपुर (झाड़सा) के पीड़ित परिवारों के प्रति अपनी संवेदना दिखाई है और हरसंभव मदद देने का खुलकर ऐलान किया है। 
सैंकड़ों मित्रों ने घटना के प्रत्युत्तर में बेहद क्रांतिकारी अभिव्यक्तियां दी हैं और ईंट का जवाब पत्थर से देने का आह्वान किया है।
आदरणीय मित्रो! आप सबको साधुवाद और कोटि-कोटि प्रणाम है। निःसन्देह, आपकी यह पहल पूरे देश व समाज के लिए बहुत बड़ा सन्देश है। आपकी यह महानता इतिहास स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज करेगा। आप सबका तहेदिल से धन्यवाद एवं आभार है।
आदरणीय मित्रो! कहने की आवश्यकता नहीं कि भयंकर विपरीत परिस्थितियों के बीच पुलिस की दरिन्दगी एवं प्रशासन, हुडा विभाग और हरियाणा सरकार की अति संवेदनहीनता का शिकार हुए 250 गरीब पिछड़े कश्यप परिवारों को आप सबके स्नेह, सहयोग और मागदर्शन की सख्त से सख्त आवश्यकता है। अतः आपसे विनम्र अपील है कि मानवीयता का परिचय देते हुए ‘मिशन-फतेहपुर (झाड़सा)’ में अपनी आहूति किसी भी स्तर पर और किसी भी रूप में जरूर डालें। आपकी प्रतिक्रिया पीड़ितों को के लिए मरहम का काम करने वाली होगी, ऐसा मुझे पूर्ण विश्वास है।
पुनः आप सबका धन्यवाद एवं आभार।