विशेष सूचना एवं निवेदन:

मीडिया से जुड़े बन्धुओं सादर नमस्कार ! यदि आपको मेरी कोई भी लिखित सामग्री, लेख अथवा जानकारी पसन्द आती है और आप उसे अपने समाचार पत्र, पत्रिका, टी.वी., वेबसाईटस, रिसर्च पेपर अथवा अन्य कहीं भी इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सम्पर्क करें :rajeshtitoli@gmail.com अथवा मोबाईल नं. 09416629889. अथवा (RAJESH KASHYAP, Freelance Journalist, H.No. 1229, Near Shiva Temple, V.& P.O. Titoli, Distt. Rohtak (Haryana)-124005) पर जरूर प्रेषित करें। धन्यवाद।

विशेष लेख सीधे मंगवाएं

विशेष लेखों के लिए आप सीधे ईमेल rajeshtitoli@gmail.com अथवा मोबाईल 09416629889 नंबर पर सम्पर्क कर सकते हैं। ................................................... Note : ब्लॉग पर विज्ञापन देने के लिए सम्पर्क करें। प्रारंभिक विज्ञापन दर प्रतिमाह मात्र 1000.00 रूपये (साईज 6"X2") रखी गई है।

मंगलवार, 16 मार्च 2010

छोरियां नैं बचाओ हत्यारयाँ तै !!

छोरियां नैं बचाओ  हत्यारयाँ तै !!
अर्ज करूं सूं मैं, थाम सारयाँ तैं !
छोरियां नैं बचाओ हत्यारयाँ तै !!
छोरी मारयां  तै, कोय सुख नहीं पावैगा!
वो पापी सीधा नरक-कुण्ड मं जावैगा!!
छोरी तो जग जणनी है!
ये बात सबनै समझणी है!!
घणी बरतणी है होशियारी!
कूख पै ना चलै कोए आरी!!
थारी बड़ी सै या जिम्मेदारी,
नहीं तै हर कोय पछतावैगा!!
छोरी मरवाणा मत समझो खेल!
जै पकड़े गए तै होज्यागी जेल!!
बणज्यागी मुश्किल सारयां  गेल!
छोरी बिन चलै ना बंशबेल!!
बिना होए मेल छोरी-छोरे का,
बताओ कौण सृष्टि रचावैगा!!
छोरी नैं थाम, मत समझो बोझ!
कंधे से कंधा मिलाकै, वा कमावै रोज!!
राखै मौज आगले-पाछले दोनूं घर!
बानी लावै, खूब जी भर-भर!
कर-कर कै छोरी का कत्ल कूख मं,
हर कोय भारया पाप कमावैगा!!
पढ़ लिख कै नैं, रोशन नाम करै थारा!
इंदिरा, कल्पना, किरण बेदी नैं, जाणै जग सारा!!
थारा दिमाग, क्यूँ  इतना चकरार्या सै!
छोरियां का महत्व, क्यूं नहीं समझ आ रहया सै!!
समझा रहया सै जो, राजेश कश्यप टिटौली आला,
उतना खोल कै, बता कौन समझावैगा!!
छोरी मारयां तै, कोय सुख नहीं पावैगा!
वो पापी सीधा नरक-कुण्ड मं जावैगा!!
अर्ज करूं सूं मैं, थाम सारयाँ तैं !
छोरियां नैं बचाओ हत्यारयाँ  तै !!
(-राजेश कश्यप)
स्वतंत्र पत्रकार, लेखक एवं समीक्षक
टिटौली (रोहतक), हरियाणा-१२४००५
मोबाईल : 09416629889
e-mail : rkk100@rediffmail.com